जमीन का इकरारनामा क्या है और कैसे लिखे 2024

jameen ka ikrarnama: जमीन कि बिक्री करते समय एक एग्रीमेंट बनाया जाता है जो खरीदनेवाला और बेचनेवाला दोनों की सहमति तैयार होता है. उस एग्रीमेंट को ही इकरारनामा कहा जाता है. इस इकरारनामा में जमीन बेचने और खरीदने से सम्बंधित सभी प्रकार की जानकारी लिखी जाती है जिसमे वकील मुख्य भूमिका निभाते है.

जमीन का एकरारनामा लिखने के लिए बेचनेवाला और खरीदनेवाला दोनों की सहमती से खरीदनेवाले व्यक्ति के सामने बैठकर ही एकरारनामा लिखा जाता है. जिसको लिखते समय जमीन बेचने का दिन तारीख और वर्ष पहले से निर्धारित किया जाता है. उसके बाद आपको अपना और सामने वाली पार्टी का पूर पता लिखा जाता है. इसके बाद आपको उस जमीन का खसरा नंबर, गाटा संख्या या फिर संपत्ति प्लॉट नंबर और मकान नंबर आदि सुद्ध-सुद्ध शब्दों में लिखना होता है.

एकरारनामा क़ानूनी नियम के तहत लागु किया जाता है, इसके तहत किसी समस्या का निवारण न्यायालय के आदेश के माध्यम से कर सकते है. लेकिन बहुत से लोगो को इसके बारे में जानकारी नही है. इसलिए, इस पोस्ट में जमीन का इकरारनामा क्या है और कैसे लिखा जाता है के विषय में पूरी जानकारी उपलब्ध किया गया है.

जमीन का एकरारनामा क्या है?

इकरारनामा एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है जिसमें दो व्यक्तियों के बीच जमीन संबंधित लेन-देन और एकरार के सारे लिखित सर्ते एवं नियम होते है जो भूमि मालिक और ठेके पर लिया हुआ व्यक्ति दोनों के देख-रेख में बना दस्तावेज होता है.

इसे एक प्रकार से शर्त बोल सकते है, जो जमीन बेचने या खरीदने से पहले किया जाता है. अर्थात जिस जमीन को बेचा जाना है, उसका रेट या कीमत तय कर उसे इकरारनामा लिख दिया जाता है. जब भी उस जमीन की रजिस्ट्री करनी होती है, तो उसी इकरारनामा के अनुसार रजिस्ट्री की जाती है.

जमीन का एकरारनामा लिखने के लिए आवश्यक दस्तावेज

नीचे उन सभी दस्तावेजो की सूची दी हुई है जिसकी आवश्यकता जमीन का इकरारनामा लिखने के लिए होता है. ध्यान देना है कि सामने वाली पार्टी को भी कुछ आवश्यक दस्तावेज प्रस्तुत करना होता है. इसलिए कभी भी जमीन का इकरारनामा लिखने जाए तो सामने वाली पार्टी के सभी दस्तावेज को सावधानीपूर्वक देख ले या अनुभवी वकील को भी दिखा सकते है कि दस्तावेज सही है या फर्जी.

  • पहचान पत्र
  • खाता प्रमाण पत्र
  • NOC – नॉन ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट
  • जनरल पावर ऑफ़ अटार्नी
  • अलॉटमेंट लैटर
  • प्रॉपर्टी टैक्स से जुड़ी लेटेस्ट रसीदें
  • बैनामा
  • पासपोर्ट साइज की रंगीन फोटो

जमीन का इकरारनामा कैसे लिखे?

जमीन का इकरारनामा किसी अनुभवी वकील की देखरेख में लिखना चाहिए. क्योंकि, बाद में किसी प्रकार की कोई समस्या न हो, वाद-विवाद से बचने के लिए यह प्रक्रिया को फॉलो करना अनिवार्य होता है. अगर आप एकरारनामा लिखने में कोई गलती कर रहे है. तो वकील की सलाह से उन गलतियों को ध्यान में रखते हुए सही इकरारनामा लिखने में सक्षम होंगे.

किसी भी व्यक्ति के लिए जमीन का एकरारनामा लिखने के लिए निचे दिए गए प्रोसेस को फॉलो कर सकते है.

स्टेप 1: स्टंप पेपर तैयार करे

  • पहले इकरारनामा लिखने में बहुत समस्या होती थी. क्योंकि, पहले एकरारनामा लिखने के लिए लोग सदा पेपर का प्रयोग करते थे जिसका उपयोग अब सरकारी नियम के तहत स्वीकार नहीं किया जाता है. क्योंकि सदा पेपर पर एकरारनामा लिखने की प्रक्रिया को अलग रूप दिया गया.
  • बहुत अच्छा तरीका स्टंप पेपर पर एकरारनामा लिखना है जिसका प्रयोग करने से आपका एकरारनामा सही और स्वीकार किया जायेगा. स्टंप पेपर किसी भी अनुभवी वकील या अदालत से प्राप्त कर सकते है एकरारनामा लिखने के लिए कम से कम 100 का स्टंप पेपर कर सकते है.

स्टेप 2: स्टाम्प पेपर पर ही लिखे

  • जब आप स्टांप पेपर को प्राप्त कर लेंगे उसके बाद आपको उस क्रेता को अपने साथ लेना है जिसके लिए जमीन का एकरारनामा लिखा जा रहा है. क्योंकि, क्रेता के सामने ही दोनों के रजामंदी होने पर एकरारनामा लिखा जाता है. पेपर लिखते समय इकरारनामा लिखने का दिन तारीख और वर्ष लिखना जानकारी के लिए आवश्यक है.
  • उसके बाद अपना और सामने वाली पार्टी का पूरा पता लिखे. इसके बाद आपको जमीन से संबंधित सभी दस्तावेज जैसे उस जमीन का खसरा नंबर, गाटा संख्या या फिर प्लॉट नंबर अथवा मकान नंबर सुद्ध-सुद्ध सब्दो में लिखे.

स्टेप 3: लेन देन सम्बंधित जानकारी लिखे

  • land agreement में कितने पैसा प्राप्त हुए है और कब-कब हुए है पेमेंट मेथौड जैस चेक, कैश या ऑनलाइन प्राप्त हुआ है तारीख के साथ सभी जानकारी लिखे. अगर इसमे तय की हुए राशी बकाया रह जाता है, तो उसकी भी जानकारी उसमे लिखे.
  • इस प्रक्रिया से यदि बचा हुआ बकाया पैसा निश्चित अवधि के समय प्राप्त नहीं होता है, तो नियम एवं शर्तों के अनुसार एकरारनामा ख़ारिज किया जा सकता है. इसके अलावे, जिस जमीन के लिए एकरारनामा अग्रीमेंट arrange हो रहा है उस जमीन पर किसी प्रकार का loan है, तो उसका भुगतान क्रेता या बिक्रेता कौन करेगा. उसकी भी जानकारी लिखे.

स्टेप 4: हस्ताक्षर करे

उपरोक्त प्रक्रिया होने के बाद लिखित एकरारनामा के कोने में signature करे. यदि पढ़े लिखे नहीं है, तो अंगूठा का निसान लगा सकते है. यह प्रक्रिया सामनेवाली पार्टी को भी करना है.

यह इस बात का साबुत होता है की एकरारनामा में जो भी लिखा है उस पर दोनों पार्टी की रजामंदी है. इसके साथ-साथ आपको अपना और उस पार्टी का रंगीन फोटो लगाना है. फिर signature दोनों पार्टी को फोटो के आधे भाग पर ही करना है.

स्टेप 5: एकरारनामा के साथ दस्तावेज की फोटोकॉपी अटैच करें.

एकरारनामा के बाद उसके बाद दोनों पक्षों के सभी आवश्यक दस्तावेज लगाए. जो इस प्रकार है:

  • पहचान पत्र
  • खाता प्रमाण पत्र
  • NOC – नॉन ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट
  • जनरल पावर ऑफ़ अटार्नी
  • अलॉटमेंट लैटर
  • प्रॉपर्टी टैक्स से जुड़ी लेटेस्ट रसीदें
  • बैनामा सर्टिफिकेट
  • पासपोर्ट साइज की रंगीन फोटो

जमीन इकरारनामा की वैधता कितनी होती है?

सामान्य रूप से इकरारनामा की वैधता 3 वर्ष की होती है. यदि इकरारनामा में लिखे शर्तों को पूरा नही किया जाता है, तो कानूनी प्रक्रिया द्वारा इसकी वैधता बढ़ाई जा सकती है. लेकिन यदि जमीन इकरारनामा में पैसे देने की शर्त लिखी है और दूसरा व्यक्ति तीन महीने के बाद पैसा नही देता है, तो यह इकरारनामा रद्द हो जाएगा.

और इस शर्त को पुनः पूरा करने के लिए कनूरी तौर पर एक और इकरारनामा बनाया जा सकता है, या उसकी अवधि बढ़ाई जा सकती है.

जमीन का एकरारनामा बनाने से संबंधित महत्वपूर्ण बातें

यदि आप एकरारनामा लिख रहे है, तो लिखने से पहले कुछ बातो को सावधानीपूर्वक ध्यान में रखना होगा. क्योंकि, आगे चल कर आपकी जमीन या प्रॉपर्टी जिसपे एकरारनामा लिख रहे है उसमे किसी प्रकार की कोई समस्या न हो.

  • यदि आप स्वयं जमीन का इकरारनामा लिखने में सक्षम नहीं है, तो आपको किसी अनुभवी वकील से सलाह लेकर इकरारनामा लिखना चाहिए या लिखवा लेनी चाहिए.
  • नियम के अनुसार इकरारनामा लिखने में कम से कम ₹100 के स्टैंड पेपर का उपयोग करें.
  • Land Agreement को लिखने के दौरान दूसरी पार्टी को अपने सामने ही रखें.
  • इकरारनामा लिखने के बाद ओरिजिनल कॉपी हमेसा पास रखें और सामने वाली पार्टी को फोटोकॉपी ही दें.
  • क्योंकि किसी प्रकार की कोई समस्या होती है, तो ओरिजिनल लिखा हुआ एकरारनामा का प्रयोग कर सकते है.
  • हमेशा जमीन का इकरारनामा वकील के सामने और उसके देखरेख में लिखे. जिससे इकरारनामा लिखने में कोई गलतियां हो रही है, तो उसे सुधार कर सही एकरारनामा लिखा जा सके.
  • इकरारनामा लिखने से पहले अपने और सामने वाली पार्टी के सभी आवश्दयक दस्तावेज के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त कर ले.

इसे भी पढ़े,

अक्शर पूछे जानेवाले प्रश्न: FAQs

Q. एकरारनामा कितने समय तक वैध रहता है?

एकरारनामा 3 सालो तक वैध है. इस एग्रीमेंट के बदौलत किसी प्रकार की गड़बड़ी होने पर कोर्ट में इस अवधि के अंतर्गत चुनौती दे सकते है.

Q. एकरारनामा कैसे बनायें?

सबसे पहले एकरारनामा बनाने के लिए स्टंप पेपर प्राप्त करें. उसके बाद एकरारनामा लिखे, जिसमे दिन, महिना और वर्ष डाले. दोनों पार्टी का एड्रेस और नाम भी लिखे. इसके बाद सभी आवश्यक दस्तावेज की फोटो कॉपी लगाए और हस्ताक्षर कराए.

Q. अग्रीमेंट कैंसिल कैसे होगा?

यदि जमीन एग्रीमेंट पेपर की अवधि 3 वर्ष से अधिक की हो गई है, तो वह अपने आप रद्द हो जाएगा. या स्वयं से कैंसिल करने के लिए कानूनी नियम का उपयोग कर सकत एही.

Leave a Comment