जमीन बेचने के लिए क्या डॉक्यूमेंट चाहिए 2024

Jamin Bechane ke liye Documents: किसी भी जमीन को बेंचने के लिए उस जमीन का स्वामी होना जरुरी होता है. क्योंकि, जमीन की खरीदारी क़ानूनी तौर पर तभी मान्य होता है, जब बेचने वाले के नाम जमीन का महत्वपूर्ण रजिस्ट्री दस्तावेज हो. कई बार ऐसा होता है कि लोग प्रॉपर्टी का मालिक न होकर भी पूरी प्रॉपर्टी को बेचना चाहते है, तो ऐसी स्थिति मे कुछ समय बाद परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

क्योंकि, क़ानूनी तौर पर आप अपने हिस्से की प्रॉपर्टी बिल्कुल आसानी से बेंच सकते है. अचल संपत्ति की बिक्री को भुगतान की गई या वादा की गई कीमत या आंशिक भुगतान और आंशिक वादा किए गए मूल्य के बदले स्वामित्व के हस्तांतरण के रूप में परिभाषित किया गया है.

किसी भी जमीन की बिक्री करने के लिए उस जमीन के महत्वपूर्ण दस्तावेज की फोटो कॉपी और दोनों पक्षों का कुछ दस्तावेजों की जरुरत पड़ती है. जमीन रजिस्ट्रार ऑफिस द्वारा सभी दस्वेजो की जाँच सावधानीपूर्वक किया जाता है ताकि क्रेता और विक्रेता को कोई दीकत न हो. इसलिए, इस पोस्ट में जमीन बेचने के लिए क्या डॉक्यूमेंट चाहिए की पूरी जानकारी एवं डाक्यूमेंट्स उपलब्ध है.

संपत्ति बेंचने की प्रक्रिया क्या है जानें?

जमीन को बेंचने की प्रक्रिया भारत में एक व्यक्ति से स्वामित्व को ख़त्म कर दुसरे व्यक्ति के नाम कर दिया जाता है. इस प्रक्रिया से जमीन का पुराना स्वामी अपना हक़ खो देता है और क्रेता उस जमीन का हक़दार होता है.

किसी भी जमीन को बेंचने के लिए पहले सोच विचार किया जाता है. अर्थात, जमीन का रेट और मार्केट वैल्यू पता किया जाता है. उसके बाद क्रेता को जमीन की वैल्यू बताई जाती है, जिससे क्रेता सहमत होता है फिर दस्तावेजो की पुष्टि और कुछ शर्तें राखी जाती है. यदि ग्राहक उन शर्तों एवं जमीन के कीमत को मानने को तैयार होते है, तो रजिस्ट्री प्रक्रिया शुरू होती है.

जमीन बेंचने के लिए क्या-क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

भारत में किसी भी जमीन को बेचने से पहले यह विश्वाश दिलाना आवश्यक होता है कि जिस जमीन को बेचना चाहते है, वो आपके नाम पर रजिस्टर है. और इसे प्रूफ करने के लिए कुछ दस्तावेजों को दिखाना भी पड़ता है. अतः इस पोस्ट में जमीन बेचने के लिए क्या डॉक्यूमेंट चाहिए की पूरी जानकारी उपलब्ध है, जो आपको दस्तावेज के प्रकार से रुबरु करेगा.

  • सेल डीड: यह डीड, सेल (बिक्री ) और प्रॉपर्टी के मालिकाना हक़/ओनरशिप को प्रदर्शित करता है कि वास्तव में प्रॉपर्टी या जमीन आपके नाम है. यह कागज़ात/डॉक्युमेंट सब-रजिस्ट्रार के कार्यालय में रजिस्टर्ड होना चाहिए. अर्थात, जमीन बेचने के लिए या जमीन खरीदने से पहले सेल डीड का मांग अवश्य करे.
  • समस्त दस्तावेजों की फोटोकॉपी: जमीन को बेंचने के लिए रजिस्ट्रीकरण करते है, तो आय प्रमाण पत्र, पैन कार्ड, बैंक खाते की जानकारी, आधार कार्ड आदि सभी दस्तावेजों की फोटो कॉपी की आवश्यकता पड़ती है.
  • जमाबंदी रसीद: यह जमीन का ही दस्तावेज होता है, जो नगर निगम या प्रखण्ड से व् ग्राम पंचायत से मिलता है. जमाबंदी में जमीन की अवैध व स्तिथि की जानकारी अर्जित होती है.
  • नियमित जमाबंदी नोट: इसमे किसी भी संपत्ति को नियमित रूप से आरक्षित कराया जाता है.
  • संपत्ति करण. किसी भी जमीन को बेंचने के लिए रजिस्ट्रीकरण करते है, तो जमीन का संपत्तिकरण करना जरुरी होता है. जिससे एक प्रमाण पत्र प्राप्त होता है जो जमीन का स्वामी होने का प्रूफ होता है.
  • नकदी क्रमांक रसीद: जमीन रजिस्ट्रीकरण करने के बाद नकदी क्रमांक रसीद जमा करना पड़ता है. इस रसीद के माध्यम से जमीन के मूल्य के राशी का पता चलता है व् प्रमाण के रूप में जान सकते है.
  • टैक्स की रसीद: जमीन खरीदने वाले ग्राहक टैक्स रसीद का मांग करते है. इस डाक्यूमेंट्स से यह प्रूफ होता है, की जमीन पर किसी प्रकार का कोई लोन तो नही है. इसलिए, जमीन बेचने के लिए इस डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ सकती है.
  • नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट: जमीन खरीदने से पहले जमीन मालिक से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट की मांग कर सकते है. या आप खुद बिजली विभाग,पानी विभाग, दमकल विभाग आदि से NOC या नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते है. इससे यह पता चलेगा कि यह जमीन विवादित नही है.

जमीन बेचने से पहले महत्वपूर्ण बिंदु का ध्यान रखे

अपने किसी भी जमीन को बेचने से पहले कुछ आवश्यक तथ्यों पर विचार करना आवश्यक है. क्योंकि, जमीन एक ऐसी प्रॉपर्टी है, जो हमेशा प्रॉफिट करती है. इसलिए, यदि निम्न बिंदु पर ध्यान देते है, तो मुनाफा अच्छा और परेशानी कम हो सकता है.

  • अपनी जमीन की सटीक स्थिति का पता लगाएं. अर्थात, कहाँ है.
  • जमीन की पंजीकरण करवाएं
  • अपनी जमीन की समीक्षा करे और जमीन का मूल्य तय करें.
  • जमीन का मूल्य तय करने से पहले मार्किट वैल्यू पता करे.
  • विक्रेता के साथ सटीक दर यानि कीमत तय करें
  • जमीन सम्बंधित डाक्यूमेंट्स की निरक्षण करे और भरे
  • रजिस्ट्रार के पास हस्ताक्षर करने से पहले पेपर आदि का ध्यान रखे

Related Posts:

पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न: FAQs

Q. जमीन बेंचने के लिए क्या करें?

किसी जमीन को बेंचना चाहते है, तो सबसे पहले उस जमीन रजिस्ट्री दस्तावेज की फोटो कॉपी और जमीन सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजो की फोटो कॉपी करा लें. फिर क्रेता का भी दस्तावेजो की फोटो कॉपी कराएँ और रजिस्ट्री ऑफिस में जमा करें. उसके एक या दो दिन बाद आपकी जमीन आपके नाम से क्रेता के नाम रजिस्ट्री कर दी जाएगी.

Q. मैं अपना प्लौट कैसे बेंच सकता हूँ?

अपने प्लौट पर selling बोर्ड जैसे प्लौट बिकाऊ है, लगा सकते है या एजेंट के थ्रू अपना प्लौट बेंच सकते है. क्योंकि, एजेंट कुछ पैसे चार्ज करते है और प्लौट की बिक्री करते है.

Q. जमीन लेने से पहले क्या करें?

< जमीन लेने से पहले जमीन किसके नाम रजिस्टर है दस्तावेज को चेक करें.
< जमीन का स्वामी एक है या एक से अधिक यह पता करें.
< जमीन विवादित नहीं है, जिस जगह पर जमीन की खरीदारी कर रहें है वहाँ के लोगो से पता करें.
< अगर इससे भी नहीं होता है तो एक अच्छे वकील से संपर्क कर सलाह लें.

Q. जमीन बेंचने के लिए क्या डॉक्यूमेंट चाहिए/

जमीन बेंचने के लिए निम्न प्रकार के डाक्यूमेंट्स चाहिए.
< जमीन के ओरिजिन दस्तावेज
< आय प्रमाण पत्र
<
पैन कार्ड
< आधार कार्ड
<
बैंक खाते की जानकारी

Q. जमीन बेंचने पर कितना टैक्स देना पड़ता है?

< जमीन बेंचने के लिए प्रॉपर्टी की कुल लागत का 20 प्रतिशत देना पड़ता है.
< प्रॉपर्टी को दो साल से कम समय में बेचते हैं, तो उन्हें 30 फीसदी का शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन टैक्स देना पड़ता है.

जमीन बेचने के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए के विषय में सभी जानकारी इस पोस्ट में उपलब्ध है. किसी भी जमीन को बेचने के लिए जमीन के दस्तावेज के रूप में, आय प्रमाण पत्र, पैन कार्ड, बैंक खाते की जानकारी, आधार कार्ड जैसे डाक्यूमेंट्स चाहिए. इसी डाक्यूमेंट्स सम्बंधित कोई प्रश्न आपके पास है, तो हमें कमेंट कर बता सकते है.

Leave a Comment