दो भाइयों के बिच जमीन बटवारा कैसे करें 2024

दो भाइयों में जमीन का बंटवारा: संयुक्त पारिवार में ऐसा बहुत समय आता हैं जिसके कारण जमीन का बटवारा भाइयों के बिच करना अनिवार्य हो जाता है. आपसी अनबन परिवार को दो भागो में विभक्त कर देता है, जो जमीन का बटवारा करने का मुख्य कारण बनता है. सरकार द्वारा जमीन को बाटने की प्रक्रिया निर्धारित किया गया है, आप उनमे से किसी को भी फॉलो कर सकते है.

जमीन के बटवारा के लिए सब से पहले यह जरुरी है की दोनों भाई बटवारे के समय वहां मौजूद हों, जिससे की उनकी आँखों के सामने उनका संपत्ति, घर, जमीन, दूकान आदि जो भी है बराबर-बराबर भागों में उनको प्राप्त हो. इस आर्टिकल में दो भाइयों के बिच जमीन बटवारा कैसे करें के कुछ स्टेप्स एवं नियम बताए है, जिसके मदद से जमीन का बटवारा सरलता से हो जाता है.

दो भाइयों के बिच जमीन के बटवारा करने के नियम

किसी भी जमीन को बाटनें के लिए कुछ नियम बनाए गए है, जो बिना किसी परेशानी के सरलता से बराबर-बराबर भागों में बाटने की सुविधा उपलब्ध करता है. जमीन की बटवारा करने की मुख्य तीन प्रक्रिया है, जो इस प्रकार है.

सहमति बटवारा:  इस बटवारे में ज्यादा समस्या नहीं होती है. इसमे आपस में संपत्ति या जमीन आदि को बराबर-बराबर करके बहुत ही आसान तरीके से बटवारे की प्रक्रिया को संपन्न कर लेते हैं. जिसमे दोनों की रजामंदी होती है.

पंचायत बटवारा: आपसी संबंध सहमती से बटवारा नहीं हो पता, तो इसमें हमारे पंचायत द्वारा चुने गए मेम्बर सरपंच होते हैं जिनको जमीन सम्पति आदि के बटवारे के लिए 2 या 4 दिन पहले सुचना देनी पड़ती है. जिसके बाद सरपंच और गाँव के पंच होते हैं जिनके देख रेख में जमीन या संपत्ति की बटवारा दोनों भाई में बराबर भागो में कर दी जाती है.

रेजिस्ट्री बटवारा: इसके अंतर्गत आपको रजिस्ट्रेशन आफिस में एप्लीकेशन देना होता है. इसके बाद आवेदनकर्ता के आवेदन की जाँच पड़ताल होता है. उसके बाद सरकारी कर्मचारी दिए गए एप्लीकेशन के निवारण के लिए कानून के नियम के अनुसार संपत्ति और जमीन आदि की बराबर-बराबर भागो में बटवारा कर समस्या का हल करते हैं.

दो भाइयों के बिच जमीन का बटवारा में लगने वाले दस्तावेज.

  • Death Certificate
  • Affidavit
  • Ration Card
  • Land Registry
  • Mobile No
  • Email ID
  • Aadhar Card
  • Pan Card
  • Other Land-Related Documents

दो भाइयों के बिच बटवारे में सहायक विभाग हेल्पलाइन

पदाधिकारी का नामपदनामटोल फ्री नंबर
जस्टिस संजय प्रियमाननीय अध्यक्ष0612-2221117
श्री अमरेंद्र पति त्रिपाठीमाननीय सदस्य (न्यायिक)0612-2221116
डॉ सी० अशोकवर्धनमाननीय सदस्य(प्रशासनिक)0612-2226151
श्री रवीन्द्र पटवारीमाननीय सदस्य (न्यायिक)

दो भाइयों के बिच जमीन का बटवारा करना बेहद सरल प्रक्रिया नही है. इसलिए, सरकार इस प्रक्रिया को सरल बनाने हेतु उपरोक्त तीन स्टेप्स उपलब्ध की है, जिससे वे अपने जमीन का बटवारा सरलता से कर सकते है. यदि किसी प्रकार की समस्या हो रही हो, तो उपरोक्त टोल फ्री नंबर पर कॉल कर सकते है.

इसे भी पढ़े,

जमीन के बटवारा सम्बंधित प्रश्न

Q. जमीन का बटवारा कैसे होता है?

घर में कुल जमीन के जितने भी हिस्सेदार है उसके हिसाब से बंटवारा किया जाता है. क़ानूनी तौर पर बटवारे के जमीन में कोई दीकत नहीं रहती है और सभी भाइयों में सामान संपत्ति दी जाती है.

Q. परिवार के बीच जमीन का बंटवारा कैसे करें?

अगर परिवार के बिच में जमीन का बटवारा आपसी सहमती से होता है, तो इसमे कोई भी विवाद उत्पन्न नहीं होती है. इसमे रजिस्ट्री विवाग भी आपकी मदद करती है. इसमे खातेदार की जगह जमीन की रजिस्ट्री क़ानून के नियम से बनाई जाएगी.

Q. जमीन बंटवारा का क्या नियम है?

जमीन के बटवारे के नियम, यदि पिता के 6 पुत्र हैं और सभी की सहमती है की जमीन का बटवारा सामान भाग में हो इसके लिए सभी भाइयों को बटवारे के समय उपस्थित रहना चाहिए.जिससे जमीन का भाइयों के अनुसार 6 भागो में सामान अधिकार प्राप्त हो.

Q. जमीन के झगड़े का निपटारा कौन करते हैं?

जमीन के झगड़े का निपटारा अगर नगर पंचायत द्वारा नहीं हो रहा है, तोआप जमीन विवाग की मदद ले शकते है. क्योंकि जमीनी विवादों का निष्कर्ष कोर्ट द्वारा निकला जाता है.

Q. जमीन के बंटवारे में कौन सी धारा लगती है?

जमीन बटवारे में धारा 178 – क लगता है. यदि भूमि का कोई हकदार है, तो उसके इस धारा अंतर्गत जमीन में हिस्सा प्राप्त होगा.

विवादित जमीन का बंटवारा कैसे करें, का फैसला ज्यादातर तहसील स्तर पर या न्यायालय में सुनाया जाता है. लेकिन इसके लिए आपको तहसील कार्यालय में आवेदनपत्र देना होगा. इसके बाद भाइयों के बीच संपत्ति बंटवारे के वक्त जो भी संबंधित प्रॉपर्टी पर कर्ज होगा उसे चुकाने के बाद ही जमीन का बटवारा किया जाएगा. यदि कोई प्रश्न है, तो कृपया कमेंट में अवश्य पूछे.

Leave a Comment