जमीन विवाद की शिकायत कहां करें, जाने जमीन विवाद का शिकायत करने का सबसे आसन तरीका

आज के समय में जमीन से संबंधित कई प्रकार के विवाद उत्पन होते है. जिसमे सबसे ज्यादातर लोग घिरे रह रहे है. और उन लोगो को विवादों से निपटारा के लिए लोगो के पास जानकारी नही है. जिसके कारण लोगो के साथ कई बार यह विवाद बहुत बड़ा रूप ले लेता है. जिसके वजह से उनलोगों को बहुत बड़ा नुकसान का सामना करना पड़ता है.

क्योकि उनलोगों को यह जानकरी नही होता है की जमीनी विवाद से संबंधित कहा पर शिकायत करे. इसलिए इस आर्टिकल में यह पूरी जानकारी दिया गया है. जिससे आप जमीनी विवाद से संबंधित कहा शिकायत करे. इसके बारे पूरी जानकरी प्राप्त कर सकते है और जमीनी विवाद से बच सकते है.

जमीनी विवाद की शिकायत कहाँ करे

भारतीय कानून के अनुसार निम्नलिखित जगहों पर शिकायत कर सकते है. लेकिन इस बात पर निर्भर करता है. की विवाद किस तरह का है. यदि विवाद छोटा है तो अपने नजदीकी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कर सकते है. और यदि विवाद बड़ा है तो सिविल कोर्ट में कर सकते है.

  • अपने नजदीकी पुलिस थाने में
  • तहसीलदार या राजस्व कार्यालय में
  • जमीन संबंधित विभाग में
  • सिविल कोर्ट में

जमीनी विवाद की शिकायत पुलिस थाने में कैसे करे

यदि विवाद होता है तो अपने नजदीकी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कर सकते है. इसके लिए आपको लिखित में शिकायत दर्ज करनी होगी जिसमे निम्नलिखित जानकरी सामिल होना चाहिए.

शिकायत पत्र में आपके और विवादी पक्ष के व्यक्ति का नाम और एड्रेस भी शामिल होने चाहिए. और शिकायत पत्र में विवाद की तारीख, समय और स्थान भी शामिल होना चाहिए. इसके अलावे यदि आपके पास विवाद से संबंधित कोई साबुत है तो उसे भी विवरण लिखे.

इसके बाद शिकायत पत्र को थाना प्रभारी के पास जमा करे. इसके बाद थाना प्रभारी आपके विवाद पर आवश्यक करवाई की जाएगी.

तहसीलदार या राजस्व अधिकारी के पास शिकायत कैसे करें

यदि आपका विवाद छोटा है तो अपने तहसीलदार या राजस्व अधिकारी के पास शिकायत कर सकते हैं. इसके लिए आपको एक शिकायत पत्र लिखना होगा. जिसमें जमीनी विवाद से संबंधित सभी विवरण होना चाहिए.

शिकायत पत्र यानि आवेदन पत्र में अपना और विवादी पक्ष के व्यक्ति के नाम और एड्रेस भी शामिल होने चाहिए. और उस शिकायत पत्र को तहसीलदार या राजस्व अधिकारी के कार्यालय में जामा करना होगा.

सिविल कोर्ट में जमीनी विवाद की शिकायत कैसे करें

यदि आपका जमीनी विवाद बहुत बड़ा है तो कोट में इसकी शिकायत कर सकते है. इसके लिए आपको लिखित शिकायत पत्र ए द्वारा शिकायत दर्ज कर सकते है. लेकिन अधिकास लोगो यह जानकरी नही है जमीनी विवाद की शिकायत कैसे करें. तो इसके निचे दिए गए प्रकिया को फॉलो करे.

  • सबसे पहले एक आवेदन पत्र लिखे जिसमे शिकायत करने वाले व्यक्ति का नाम और एड्रेस का पूरा विवरण
  • इसके बाद जिस भूमि या प्रॉपर्टी पर विवाद हुआ है उसका पूरा विवरण,
  • जिस व्यक्ति से विवाद हुआ है उस व्यक्ति का नाम, एड्रेस
  • इसके बाद उस जमीन पर कब विवाद हुआ है उसका का डेट और समय
  • उस भूमि पर किस कारण वस से विवाद हुआ है उसका पूरी जानकरी शामिल होनी चाहिए.
  • अब आवेदन पत्र को सिविल कोर्ट में व्यक्तिगत रूप से जमा कर सकते है. जमा करने के बाद सिविल कोट उस प्रॉपर्टी या जमीन पर आवश्यक करवाई करेगी.

जमीन विवाद की शिकायत कहां करें बिहार

बिहार में जमीन विवाद की शिकायत करने का निम्नलिखित तरीका है. जिसके द्वारा विवादित भूमि का शिकायत कर सकते है. यदि विवाद छोटा है तो अपने तहसीलदार के पास शिकायत कर सकते हैं. या बिहार सरकार के भूमि सुधार विभाग के टोल फ्री नंबर14544 पर शिकायत भी कर सकते हैं.

लेकिन यदि विवाद बड़ा है तो अपने नजदीकी पुलिस थाने ने या कोट में शिकायत कर सकते है. इसके आलावा बिहार भूमि विवाद निराकरण अधिनियम 2009 के तहत मुकदमा भी कर सकते है.

जमीनी विवाद की शिकायत करते समय निम्नलिखित बातों पर ध्यान दे

  • आवेदन पत्र में विवाद से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी लिखे.
  • आवेदन पत्र को सही से तैयार करे. काट छाट न करे.
  • आवेदन पत्र जमा करने का सही समय सीमा का पालन करें.
  • जिस व्यक्ति से विवाद हुआ है उस व्यक्ति के पास आवेदन पत्र का एक फोटोकॉपी भेजें.
  • कोट की सुनवाई के लिए पेश हों.

इसे भी पढ़े,

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न: FAQs

Q. भूमि विवाद होने पर मुझे क्या करना चाहिए?

जमीनी विवाद होने पर सबसे पहले नजदीकी पुलिस थाने में पुलिस अधीक्षक के पास लिखित शिकायत दर्ज करना चाहिए. जिससे पुलिस क़ानूनी करवाई कर भूमि विवाद को रोक सके.

Q. बिहार में भूमि विवाद के बारे में मैं कहां शिकायत कर सकता हूं?

बिहार में भूमि विवाद होने पर तहसीलदार के पास, पुलिस थाने में, या कोट में शिकायत दर्ज करा सकते है. या बिहार भूमि विवाद निराकरण अधिनियम 2009 के तहत मुकदमा भी कर सकते है.

Q. जमीन विवाद की शिकायत में कौन से कानून लागू होते हैं?

जमीनी विवाद की शिकायत के लिए अलग अलग कानून लागु किया जाता है.
भूमि अधिनियम, 1960
भूमि सुधार अधिनियम, 1953
राजस्व संहिता, 1965
सिविल प्रक्रिया संहिता, 1908

Leave a Comment