1932 का खतियान कैसे निकाले

यदि आपका जमीन बहुत ही पुराना है और आपको अपने जमीन के बारे में पूरी जानकारी नही है, तो 1932 के खतियान के मदद से अपने जमीन की जनकारी को प्राप्त कर सकते है. क्योकि 1932 के खतियान में सभी गाँव के प्रत्येक परिवार का नाम और भूमि का विवरण दर्ज किया गया है.

खतियान में भूमि के प्रकार, भूमि का क्षेत्रफल, भूमि का उपयोग और भूमि की स्थिति जानकारी दर्ज किया गया है. लेकिन अधिकांस लोगो को यह जानकारी नही है की 1932 का खतियान कैसे निकाले. इसलिए इस आर्टिकल में पूरी जनकारी स्टेप by स्टेप्स उपलब्ध किया गया है, जिसके मदद से 1932 का खतियान निकाल सकते है.

1932 का खतियान क्या है

1932 का खतियान भारत के झारखंड राज्य के एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है. जो 1932 में ब्रिटिश शासन के दौरान बनाया गया था. इस खतियान में झारखंड के विभिन्न जिलों में रहने वाले लोगों की जमीन के मालिक का विवरण दर्ज है. 1932 के खतियान के आधार पर झारखण्ड सरकार ने 2022 में स्थानीय नीति को मंजूरी दी है.

1932 के खतियान में जिन आदिवासियों लोगो के नाम हैं, उन्हें झारखंड में स्थानीय अधिकार प्राप्त होंगे. इस अधिकार में उन लोगो को सरकारी नौकरी, शिक्षा, और स्वास्थ्य सेवाओं में आरक्षण शामिल है, जो इस लोगो को दिया जाएगा.

ऑनलाइन 1932 का खतियान कैसे निकाले

  • 1932 का खतियान निकालने के लिए सबसे पहले Jharbhoomi.nic.in के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाए. और इसके निचे दिए गए प्रकिया को फॉलो करे.
  • इसके बाद खाता एवं रजिस्टर II देखे के आप्शन पर क्लिक करे.
khata awm rajister dekhe ke option par clik kare
  • इसके बाद खतियान को सेलेक्ट करे.
  • अब अपना जिला, अंचल नाम, हल्का नाम (गाँव का नाम), मौजा नाम, खाता नंबर और जमीन का किस्म को सेलेक्ट करे.
khatiyan ke option par clik kare
  • इसके बाद सुरक्षा कोड को दर्ज करे.
  • सुरक्षा कोड दर्ज करने के बाद खतियान वाले बटन पर क्लिक करे.
  • खतियान के आप्शन पर क्लिक करते ही आपके जमीन की पूरी जानकारी एवं जमीन का खतियान ओपन हो जाएगा. जिसमे अपने जमीन की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है.
khatiyan nikaale

इस आर्टिकल में झारखण्ड के खतियान निकालने के लिए जानकारी को दिया गया है, ठीक इस तरह ही दुसरे राज्य के के जमीन का खतियान निकाल सकते है.

ऑफलाइन 1932 का खतियान कैसे निकाले

ऑफलाइन खतियान निकालने के लिए निचे दिए गए प्रोसेस को फॉलो करे.

  • सबसे पहले अपने जिले के राजस्व कार्यालय जाएं और एक आवेदन पत्र दे.
  • आवेदन पत्र एक अपनी जमीन की पूरी जानकारी लिखे. जैसे जमीन के मालिक का नाम, खाता नंबर आदि.
  • आवेदन पत्र के साथ अपने दस्तावेज को संलग्न कर जमा करें.
  • इसके बाद आवेदन शुल्क का भुगतान करे.
  • आवेदन करने के कुछ दिनों के बाद खतियान प्राप्त हो जाएगा.

खतियान निकालने के लिए आवश्यक दस्तावेज

किसी भी जमीन का खतियान निकालने के लिए निम्नलिखित दस्तावेजो की आवश्यकता होती है, जो इस प्रकार है:

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • मतदाता पहचान पत्र
  • राजस्व विभाग द्वारा जारी कोई अन्य पहचान पत्र
  • जमीन के मालिक होने का प्रमाण
  • जमीन का रशीद

खतियान निकालने का कितना शुल्क लगता है

  • खतियान निकालने का शुल्क अलग अलग राज्यों में अलग अलग लगता है.
  • ऑनलाइन के माध्यम से खतियान निकालने के लिए कोई शुल्क नहीं लगता है.
  • राजस्व विभाग कार्यालय के द्वारा खतियान निकालने के लिए, आपको ₹100 से ₹200 तक का शुल्क देना होता है.
  • यदि खतियान की प्रति प्राप्त करना चाहते हैं, ₹20 से ₹50 तक का अतिरिक्त शुल्क देना होता है.

इससे भी पढ़े,

अक्सर पूछे जाने वाले: FAQs

Q. नाम से खतियान कैसे निकाले?

नाम से जमीन का खतियान निकालने के लिए सबसे पहले अपने राजस्व विभाग के अधिकारिक वेबसाइट पर जाए. जिला, अंचल नाम, हल्का नाम (गाँव का नाम), मौजा नाम, खाता नंबर और जमीन का किस्म को सेलेक्ट करे, इसके बाद खतियान के आप्शन पर क्लिक करे.

Q. झारखंड में खतियान कैसे चेक करें?

झारखण्ड राज्य में खतियान चेक करने के लिए jharbhoomi.jharkhand.gov.in/ के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाए. खाता एवं रजिस्टर II देखे के आप्शन पर क्लीक करे. इसके बाद जिला, अंचल नाम, हल्का नाम (गाँव का नाम), मौजा नाम, खाता नंबर और जमीन का किस्म को सेलेक्ट करे. खतियान के आप्शन पर क्लीक करे.

Q. 1932 का खतियान खो गया है तो क्या करें?

यदि आपका 1932 का खतियान खो गया है, तो आप एक नया खतियान जारी करने के लिए अपने जिले के राजस्व कार्यालय आवेदन कर सकते है.

Q. 1932 का खतियान नहीं मिला तो क्या करें?

यदि आपका 1932 का खतियान नहीं मिल रहा है, तो आप अपने जिले के राजस्व विभाग कार्यालय में आवेदन करे. इसके बाद राजस्व विभाग द्वारा आपके खतियान को दे सकते है.

Leave a Comment